Home > OUR PORTFOLIO LIST > THIN PENIS & ENLARGEMENT TREATMENT (पतला और छोटा लिंग का इलाज क्या है)

THIN PENIS & ENLARGEMENT TREATMENT (पतला और छोटा लिंग का इलाज क्या है)

Thin Penis: Things to Know About Size, Sex, and More
Your penis is unique
Penises come in all different shapes, sizes, and colors. Some are thick, some are thin, and some are in between. They can be anywhere from the palest pink to the deepest purple. And they can point up, down, or off to the side.

Many people worry about the way their penis looks, but there really is no “normal.” The only “normal” out there is what’s normal for you

What is the treatment?

It is assumed that the average length of a penis is six inches. So when a penis is somewhat smaller than this length, it is designated as a small penis. This may appear as a single disorder or may also be associated with thin penis.

One of the most prevalent methods of enlarging penis size is hormone therapy. This treatment can be in the form of hormone injections, skin patches or oral tablets. At first, it is determined whether a person seeking the treatment will at all benefit from it or not. After administering the hormone therapy, if the penis grows for about 1.25 cm in 3 months, it is understood that the penis has capacity to grow further. Then only is this treatment continued. The various types of hormone therapy are male hormone replacement, growth hormone therapy, IGF-1 therapy, DHT therapy and gonadotrophin therapy.

Penis enlarging surgery is undertaken when proper results are not achieved by using medicines. The three types of penis enlarging surgeries are: penis lengthening surgery, penis girth increasing surgery and chordee correction.

How is the treatment done?

When hormones are administered in the form of injections or skin patches or oral tablets, the concentration of hormones in blood naturally increases. The hormones bind to the androgen receptors of the penis and cause certain changes in the tissues of the penis. This causes multiplication of penile tissues and leads to further growth. The penis grows in size if there is continuous multiplication of the penile tissues. This process generally continues for a year and typically stops after the penis acquires a normal size. Replacement of the testosterone hormone is one of the most common treatments for penis enlargement. DHT therapy is a hormone therapy that is good for people who have not responded to other treatments. This therapy uses a skin gel and is highly effective.

Penis enlargement surgery is undertaken when medication has not produced any tangible results. A penile lengthening surgery helps to increase the non-erect length of the penis and the erect length to some extent. The benefits vary from people to people but normally the average length gained is about 4cms. The ligament dividing the internal part of the penis is divided and a muscle technique is also used to ensure that this surgery is viable in the long run. If the area above the penis is too full or masks the full length of the penile shaft, a liposuction is generally recommended.

Who is eligible for the treatment? (When is the treatment done?)

Research has shown that the average size of a penis varies between 4.7 to 6.3 inches. A person having a penis shorter than that length is eligible to receive treatment provided he is fit enough to receive medication or to undergo surgery. A person is eligible for hormone therapy only if the doctor is satisfied that the organ will respond to treatment. This is determined by giving a person seeking treatment hormone therapy for a period of 3 months and monitoring whether there is any increase in the size of his penis. Penis lengthening surgeries are performed only when other medications have failed to produce any results.

Who is not eligible for the treatment?

A person who has responded well to hormonal therapy and his penis size has increased considerably is not eligible for penis lengthening surgery. Furthermore, a person is eligible for hormonal treatment only after the doctor decides that the person will benefit from hormonal therapy. Otherwise he is not eligible.

Are there any side effects?

The side-effects of DHT treatment may include dry skin, changes in the bowel habit, muscle pain, increased thirst, high blood pressure, stomach upset, loss of appetite, weight loss, increased urination and unusual taste in the mouth. The penis lengthening surgery may have a number of side effects. Some of these include: infections, nerve damage, difficulty in getting an erection and reduced sensitivity. The most dangerous effect is that scarring can leave a penis shorter than what it was originally.

What are the post-treatment guidelines?

After undergoing a penis lengthening surgery, a person will require to take medications for a few days to control the pain. A person will have to pay attention in order to care for the extra length gained during the surgery. A man will normally have to wear weights and wrap the penis for a period of 12 weeks. A man should also abstain from sexual activities for 3-4 weeks and from high energy sports for 6 weeks.

How long does it take to recover?

Although a man has to take medications to ease pain for only a week after a penis lengthening surgery, it takes time to fully recover from the surgery. A person will have to refrain from sexual activities and intense physical activities for a specific period. A patient normally requires 12 weeks to recover fully. Hormone therapy has no side-effects and the recovery time is negligible.

What is the price of the treatment in India?

Penis lengthening surgery may cost anything in between Rs 2.2 lakhs and Rs 6.2 lakhs in India. Gonadotrophic hormone injections can be obtained in India within the price range of Rs 175 – Rs 1000. Treatment with growth hormones generally will cost something around Rs 200000 in India.

Are the results of the treatment permanent?

Penis lengthening surgery helps to increase the length of a person’s penis. The extra inches that a person has gained are more or less permanent provided that he follows the post-treatment guidelines properly. Hormone therapy helps to increase both the length and the thickness of the penis. These results are also permanent.

What are the alternatives to the treatment?

Incorporating foods rich in vitamin C, vitamin A , vitamin D, thiamine, zinc and magnesium will provide energy to the body required for naturally enlarging the person. Two exercises that help to increase the size of penis are hot cloth warm up and the jelq method for enlargement of penis. Other exercises that can help to increase the size of a penis are thumb stretcher, backward puller, opposite stretch, kegel and the rotating stretch.

सेक्‍स-सॉल्‍व: पेनिस का साइज छोटा होने से कई दिक्कत हो सकती है?

अगर आप सेक्सुअली एक्टिव हैं, तो सेक्स के बारे में बातचीत करना जरूरी है. बिना किसी शर्म या झिझक के आपको सुरक्षित सेक्स के तौर-तरीकों के बारे में जानना चाहिए

कैसे बढाएं लिंग का आकार? (Penis Enlargement )

लिंग का छोटा आकार किसी भी पुरूष के सुखमय विवाहित जीवन को बर्बाद कर सकता है क्योंकि कुछ महिलाओं को इस बात की शिकायत रहती है कि उनके पति उन्हें चरम सुख नहीं दे पाते हैं। इस बात को लेकर उनके पति भी परेशान रहते हैं और उन्हें ऐसे तरीकों की तलाश रहती है, जिसके माध्यम से वह अपने लिंग के आकार को बढ़ा (Penis Enlargement) सकें ताकि वे अपनी पत्नियों की इस शिकायत को दूर कर सकें। गुप्त अंग संबंधी समस्या पुरूषों और महिलाओं दोनों को होती हैं। जहां एक ओर, महिलाओं के गर्भाशय में खतरनाक टिशू के विकसित से होने वाली तमाम परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए उन्हें डी एंड सी नामक सर्जरी करानी पड़ती है।

तो वहीं, दूसरी ओर पुरूष भी अपने लिंग के कम आकार को लेकर परेशान रहते हैं और इसका इलाज कराने के लिए उन्हें बेहतर तरीके की तलाश रहती है। चूंकि, भारतीय समाज में कुछ विषयों लिंग का कम आकार होना जैसे को विवादास्पद समाझा जाता है, इसलिए इस समस्या से पीड़ित पुरूष खुलकर इसके बारे में बात नहीं कर पाता है। इसी रवैया के कारणवश वह पेनिस रोग जैसे लिंग में दर्द होना से निजात नहीं पा पाता है। यदि उसे पेनिस समस्या की पूर्ण जानकारी होती तो शायद उसकी सेक्स लाइफ भी बेहतर होती।

अत: इस प्रस्तुत लेख के माध्यम यह जानने की कोशिश करते हैं कि कैसे लिंग वर्धक किया जा सकता है।

लिंग के आकार का बढ़ाना क्या है? (What is Penis Enlargement)

वैज्ञानिक तौर पर, प्रत्येक पुरूष के लिंग की औसतन लंबाई 4 से 5 इंच होती है, जो उत्तेजित होने पर 6 इंच तक बढ़ सकती है। लेकिन, ऐसे बहुत सारे पुरूष हैं, जिसके लिंग का आकार काफी कम (अर्थात् 2-3 इंच) तक ही होता है। ऐसे पुरूष इस बात को लेकर काफी तनावग्रस्त रहते हैं और कई बार उन्हें इसकी वजह से अपमानित भी होना पड़ता है।

इसी समस्या को ठीक करने के तरीके को लिंग के आकार को बढ़ाना (लिंग वर्धन) कहा जाता है, जिसमें पुरूष के लिंग को सही आकार प्रदान करके उसके पेनिस रोग को ठीक करना है।

लिंग का आकार कम क्यों होता है? (Penis Shrinkage )

ऐसी आम धारणा है कि जैसे व्यक्ति की उम्र बढ़ती है वैसे-वैसे उसके स्वास्थ संबंधी परेशानियां भी बढ़ने लगती हैं। यह बात पुरूष के लिंग के आकार पर भी लागू होती है, जो विभिन्न तत्वों के कारण कम हो जाती है।

यदि किसी पुरूष के लिंग का आकार कम है, तो ऐसा इन 5 वजहों से हो सकता है, जो इस प्रकार हैं-

अधिक उम्र का होना- जब किसी पुरूष की उम्र बढ़ जाती है तो उसका शरीर कमजोर होता है और उसके शरीर के अंगों की कार्यक्षमता में भी कमी आ जाती है।

यह बात लिंग पर भी लागू होती है और इसका आकार उम्र के बढ़ने के साथ-साथ कम हो जाता है।

वजन का बढ़ना- जिस व्यक्ति का वजन अधिक होता है, उसे स्वास्थ संबंधी कई सारी परेशानियां होने की संभावना रहती है।

ऐसा लिंग के आकार के संदर्भ में भी होता है और अधिक वजन का असर इस पर भी पड़ता है।

प्रोस्टेट सर्जरी को कराना- लिंग का आकार उस स्थिति में भी हो जाता है, जब किसी पुरूष ने प्रोस्टेट सर्जरी कराई होती है।

प्रोस्टेटे सर्जरी को मुख्य रूप से प्रोस्टेट कैंसर अर्थात् पौरूष ग्रंथि के कैंसर का इलाज करने के लिए किया जाता है।

पेरोनी रोग का होना- पेरोनी (Peyronie Disease) को आम भाषा में घुमावदार लिंग की बीमारी कहा जाता है, जो लिंग के भीतर रेशेदार ऊतक के विकसित होेने के कारण होता है।

जो व्यक्ति इस रोग से पीड़ित होता है, उसमें लिंग के आकार के कम होने की संभावना अधिक रहती है।

ध्रूमपान का करना- यदि कोई पुरूष ध्रूमपान अधिक मात्रा में करता है, तो उसका दुष्प्रभाव उसकी सेहत पर पड़ सकता है।

लिंग का कम आकार ध्रूमपान का परिणाम भी हो सकता है, इसी कारण किसी भी पुरूष को ध्रूमपान नहीं करना चाहिए।

लिंग के आकार को कैसे बढ़ाया जा सकता है? (Penis Enlargment Treatments)

जिस पुरूष के लिंग का आकार कम होता है, वह इसके आकार को बढ़ाने के तरीकों की तलाश में रहता है। वे लिंग के आकार और लंबाई को बढ़ाना चाहता है ताकि वह लिंग समस्या का समाधान कर सके।

यदि कोई व्यक्ति लिंग के कम आकार से परेशान है, तो वे इसके लिए कुछ महत्वपूर्ण तरीकों को अपना सकता है, जो इस प्रकार हैं-

दवाई लेना- लिंग के आकार को बढ़ाने में दवाई को भी लिया जा सकता है।

ये दवाईयां लिंग में टिशू को बढ़ाने में सहायक होती हैं, जिसकी वजह से उसके आकार में बढ़ोतरी होती है।

आयुर्वेदिक इलाज अपनाना- कई बार ऐसा भी देखा गया है कि लिंग के आकार को बढ़ाने में आयुर्वेदिक इलाज मददगार साबित होता है।

अत: लिंग के कम आकार से पीड़ित पुरूष आयुर्वेदिक के द्वारा भी लिंग की समस्या से निजात पा सकता है।

क्रीम का इस्तेमाल करना- आज कल बाजार में लिंग वर्धक काफी सारी क्रीम मौजूद हैं।

इस प्रकार लिंग के कम आकार से पीड़ित पुरूष इन क्रीमों का इस्तेमाल कर सकता है।

यदि कोई पुरूष अपने मालिश, पौष्टिक भोजन इत्यादि को अपनाता है तो इसकी वजह से उसके लिंग का आकार बढ़ सकता है।

लिंग सर्जरी कराना- जब लिंग के आकार बढ़ाने के लिए कोई भी तरीका कारगार साबित नहीं होता है, तब डॉक्टर पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी की सहारा लेते हैं।

पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी में सर्जिकल तरीके से लिंग के आकार को बढ़ाया जाता है।

पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी की कीमत क्या है? (Penis Enlargement Surgery Cost)

जब भी कोई डॉक्टर किसी पुरूष को पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी कराने की सलाह देते हैं, तो उस समय उसके मन में यह सवाल जरूर आता है, कि लिंग के आकार को बढ़ाने की सर्जरी की कीमत क्या है। हो सकता है, कि कुछ लोगों को पेनिस एलार्जमेंट सर्जरी को एक महंगी प्रक्रिया लगे और इसे कारण वे इसका लाभ नहीं उठा पाए।

लेकिन, यदि उन्हें यह पता हो कि यह एक किफायती प्रक्रिया है, जिसकी कीमत मात्र 2.2 से 6 लाख है, तो शायद वे भी इस सैक्स समस्या से निजात पा सके।

पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी के लाभ क्या हैं? (Penis Enlargment Benefits)

पेनिस एनलार्जमेंट (लिंग वर्धक) लिंग के आकार को बढ़ाने की सर्जरी, जिसके कई सारे लाभ होते हैं, इनमें से कुछ इस प्रकार हैं-

लिंग को सही आकार देना – यह इस सर्जरी का प्रमुख लाभ लिंग को सही आकार प्रदान करना है।

इस प्रकार पुरूष स्वास्थ संबंधी कई सारी समस्याओं से भी सुरक्षित हो जाता है।

पुरूष के आत्मविश्वास को बढ़ाना- जैसा कि ऊपर स्पष्ट किया गया है कि लिंग के कम आकार असर पुरूष के मानसिक स्वास्थ पर भी पड़ता है। इसकी वजह से उसका आत्मविश्वास भी कम हो जाता है।

लेकिन, लिंग के आकार बढ़ाने की सर्जरी के माध्यम से उसका आत्मविश्वास भी बढ़ जाता है और वह अपने कार्य को बेहतर तरीके से कर पाता है।

विवाहित जीवन को बेहतर बनाना- जब किसी पुरूष के लिंग का आकार बढ़ जाता है, तो वह अपने जीवनसाथी को चरम सुख प्रदान करने में समर्थ हो जाता है।

इस प्रकार, लिंग के आकार को बढाने की सर्जरी पुरूष के विवाहित जीवन को बेहतर बनाने में सहायक साबित होती है।

पुरूष स्वास्थ्य संबंधी अन्य बीमारियों की संभावना को कम करना- चूंकि, प्रत्येक पुरूष के शरीर का महत्वपूर्ण अंग उसका लिंग होता है, इसी कारण जब उसका आकार बढ़ जाता है, तो उसका असर पुरूष के स्वास्थ पर होता है।

लिंग के आकार को बढ़ाने वाली सर्जरी के माध्यम से पुरूष में अन्य बीमारियों जैसे प्रोस्टेट कैंसर या पुरूष बांझपन (Male Infertility) की संभावना भी कम हो जाती है और वह सेहतमंद जीवन जी पाता है।

कम समय लगना- लिंग के आकार को बढ़ाने की सर्जरी एक छोटी सी सर्जरी होती है, जिसमें काफी कम समय लगता है।

अत: पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी कराने में पुरूष का ज्यादा समय नहीं लगता है और इस सर्जरी के कुछ समय के बाद डॉक्टर उसे डिस्चार्ज करते हैं।

पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी के जोखिम क्या हैं? (Penis lengthening Surgery Side Effects in Hindi)
निश्चित रूप से, लिंग सर्जरी लिंग की समस्या का समाधान करने का सर्वोत्तम तरीका है, लेकिन इसके बावजूद इसके कुछ जोखिम भी होते हैं, जिनकी जानकारी इस सर्जरी को कराने वाले पुरूष को होनी चाहिए।

यदि किसी व्यक्ति ने पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी को कराया है, तो उसे ये 5 जोखिम हो सकते हैं-

मांसपेशियों में दर्द होना- कई बार ऐसा देखा गया है कि लिंक के आकार को बढ़ाने की सर्जरी के बाद पुरूष को थोड़ी परेशानी होती है।

ऐसी स्थिति में पुरूष के लिंग की मांसपेशियों में दर्द होता है और इसके लिए उसे दर्द-निवारक दवाईयों का सहारा लेना पड़ता है।

पेट में दर्द होना- कुछ पुरूषों को पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी कराने के बाद पेट दर्द की शिकायत रहती है।
हालांकि, इस परेशानी को मेडिकल सहायता से ठीक किया जा सकता है।

उच्च रक्तचाप होना- लिंग सर्जरी के बाद पुरूष के शरीर की कार्यक्षमता पूरी तरह से बदल जाती है।

पेनिस एनलार्जमेंट के बाद पुरूष को उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure) की समस्या रहने लगती है और उस स्थिति में उसे बी.पी की दवाई लेनी पड़ती है।

पेशाब का बार-बार आना- पेनिस एनलार्जमेंट सर्जरी का असर पुरूष के मूत्राशय पर भी पड़ता है।

लिंग के आकार बढ़ाने की सर्जरी की वजह से पुरूष को बार-बार पेशाब करना पड़ता है।

कमजोरी महसूस होना- लिंग के आकार बढ़ाने की सर्जरी के असर पुरूष की शारीरिक क्षमता पर भी पड़ता है।

ऐसी स्थिति में यदि कोई पुरूष इस समस्या से पीड़ित है तो उसे इसकी सूचना डॉक्टर को देनी चाहिए और इसका इलाज जल्द से जल्द शुरू कराना चाहिए ताकि उसे कोई गंभीर बीमारी न हो।

जैसा कि हम सभी यह जानते हैं कि प्रत्येक शख्स को अपने जीवन में कभी-न-कभी ऐसी परेशानी से गुजरना पड़ता है, जिसके बारे में बात करना उसके लिए काफी मुश्किल होता है।

लिंग के आकार का कम होना या फिर घुमावदार लिंग ऐसी ही समस्याएं हैं, जो अधिकांश पुरूषों में देखने को मिल रही है।

इस समस्या का प्रभाव उनकी शारीरिक के साथ-साथ मानसिक क्षमता पर भी पड़ता है, लेकिन यदि उन्हें यह पता हो कि वह अपने लिंग के आकार को बढ़ा (Penis Enlargment) को बढ़ाकर घुमावदार लिंग की समस्या से भी निजात पा सकते हैं तो शायद वे खुशहाल ज़िदगी जी पाता।

यदि आप या आपकी जान-पहचान में कोई पुरूष स्वास्थ संबंधी किसी प्रकार की समस्या और उसके उपचार के संभावित तरीकों की जानकारी प्राप्त करना चाहता है तो वह इसके लिए +91-9453141421 पर Call करके उसका परामर्श प्राप्त कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Riley Ridley Jersey 
how much alcohol is kept in the blood online buying primobolan online in uk beef is a costly muscle legal clomifene citrate for sale the us lower 5 ways to stop being nervous for mental health online oxymetholone buy in australia at the origin of muscle less 10 kg is the whole truth about the most bodybuilding natural liver restoration which foods are good to eat order protein dishes buy arimidex in uk homens perdem more easy weight online